New Education Policy 2020 In Hindi PDF Download

आज हम आपको राष्ट्रीय शिक्षा नीति यानि कि New Education Policy के बारे में पूरी जानकारी देने जा रहे हैं , इस पोस्ट में आप जानेंगे New Education Policy क्या है ? और यह क्यों जरुरी है ? अपने देश में Education Quality को और बेहतर बनाने के लिए समय-समय पर Education Policy में Changes किये गए| सबसे पहले 1968 उसके बाद 1986 और अब 2020. यानी अब 34 साल बाद देश में एक नयी शिक्षा-नीति लागू की जा रही है|

नई शिक्षा नीति 2020 (New Education Policy) को कैबिनेट से मंजूरी मिल गयी है| नयी शिक्षा नीति अर्थात New Education Policy में Primary Education से लेकर Higher Education तक कई बड़े बदलाव किये गए है| ए बदलाव क्या है आइये जानते है?

NEP (New Education Policy) 2020 – [5+3+3+4] Structure / Format 

Education Policy 2020 के आने से पहले (10+2) Format लागू था लेकिन अब एक New Education Structure [5+3+3+4] लागू किया जायेगा| आइये समझते है [5+3+3+4] Structure या Format क्या है? इन सभी Numbers को आप Years के रूप में मानिये|

  1. पहले 5 साल में Pre Primary School के 3 साल और Class 1 & Class 2. यह एक Foundation Stage है| इस Foundation Stage में बच्चो को Activity के साथ Learning और खेल के द्वारा उनके बौद्धिक क्षमता का विकास करना है|

छोटी उम्र में उनके बस्ते के बोझ को कम करना है और इन 5 साल Exam का कोई खास Stress उन पर नहीं डाला जायेगा| इस Structure के अंतर्गत 3 Years से 8 Years के बच्चे आयेंगे| पहली और दूसरी कक्षा में भाषा तथा गणित पर काम करने पर जोर देने की बात नयी शिक्षा नीति में बताई गयी है|

2. इसके बाद अगला नंबर 3 है, इसका मतलब है Next 3 Years. Means Class 3, Class 4 & Class 5. इस पाठ्यक्रम संरचना के अंतर्गत 8 से 11 साल के बच्चे आयेंगे| यह एक Preparatory Stage है| इसमें बच्चो को Playing, Discovery, Activity Based And Integrated Classroom Learning होगी| इसी के साथ ही साथ मातृभाषा अर्थात Mother Tongue/ Home Language और क्षेत्रीय भाषा अर्थात Regional और Local Language को बोलना, लिखना सिखाया जायेगा|

इस  के अंतर्गत आने वाले बच्चो को किसी भी Regional Language बंगाली, पंजाबी, गुजराती, उड़िया को लिखने पढने और समझने के लिए तैयार करना है| इसके अलावा मातृभाषा हिंदी को भी लिखना, पढना, बोलना भी सीखता है| अंग्रेजी की बाध्यता को समाप्त कर दिया गया है अर्थात English को अब Compulsory Language के रूप में नहीं माना जायेगा| अब किसी भी Language को थोपा नहीं जायेया|

3. Next Second 3 नंबर अगले 3 साल के रूप में है| इसका मतलब है Class 6th, Class 7th, Class 8th. इन 3 सालो को Middle Stage कहा गया है| इसमें बच्चो को Experimental Learning in the Science, Mathematics, Arts, Social Science and Humanities पढाई  जाएगी| इसके अंतर्गत 11 से 14 साल के बच्चे आयेंगे| इस Stage के अंतर्गत Computer Software बनाना, Computer Programming सिखाई जाएगी| बच्चो के Skill Development का कम छोटी सी उम्र से ही सिखाया जाने लगेगा| जिससे उनका Mind 21th Century के हिसाब से वह कंप्यूटर भी समझ को विकसित कर सकेंगे|

6 वी क्लास के बच्चो के लिए Project Based Learning करायी जाएगी| बच्चो के Report Card में Appraise अर्थात मूल्यांकन सिर्फ Teacher ही नहीं करेंगे| एक Column में बच्चा स्वयं अपना मूल्यांकन करेगा और एक में उसके Classmate मूल्यांकन करेंगे और वोकेशनल अर्थात व्यावसायिक स्किल्स में Carpentry, Gardening, Pottery making, Electric Work , Metal Work और अन्य चीजे सिखाई जाएँगी| इस प्रकार स्कूल से निकलने वाले हर बच्चे के पास कोई न कोई Vocational Skill होगा| पहले कि तरह वह केवल किताबी कीड़ा नहीं होगा| इसके साथ ही साथ 6th से ही बच्चो को Internship का भी मौका मिलेगा| Class 3rd, Class 5th, Class 8th के सभी बच्चे स्कूली परीक्षा देंगे|

4.Number 4, 8th के बाद अगली चार Class 9th, 10th, 11th, 12th Show करता है| इस Structure में 14 से 18 साल के बच्चे आते है| इन चार सालो के Group को Secondary Stage कहा गया है| इसमें Multidisciplinary Study, Greater Critical Thinking, Flexibility and Student Choice of Subject को ध्यान में रखा गया है| इसके अंतर्गत आपको पहले की तरह Stream की Problem नहीं आएगा जैसे कि पहले Science Side PCM Group से पढने वाले Students Economics, History, Geography, Civics Humanities जैसे Subject नहीं पढ़ पते थे और बाद में Science Stream से Pass जो जाने के बाद वे IAS, PCS Exam की तैयारी करने के लिए उनको अलग से इन Subject की तैयारी करनी पड़ती थी|

अब ये Physics, Chemistry, Maths के साथ-साथ Humanities Subjects भी पढ़ सकते है और इसके Opposite Humanities Subject पढने वाला कोई भी Student Physics, Chemistry, Biology भी पढ़ सकेगा| यानी कि Stream की दीवार सामने नहीं आएगी आप अपने मन के Subjects History, Political Science, अन्य कोई भी पढ़ सकेंगे| यह एक सबसे बड़ा बदलाव इस Stage Group के अंतर्गत आएगा| लेकिन हाँ किन सब्जेक्ट्स के साथ अपना Favourite Subject के सकेंगे यह बाद में Decide होगा| इसके लिए अलग-अलग पूल बनाये जायेंगे| इस प्रकार Multidisciplinary Education की व्यवस्था रहेगी|

5.10वी और 12वी  बोर्ड परीक्षा को आसान बनाया जायेगा| 10वी और 12वी बोर्ड परीक्षाओं में बड़े बदलाव किये जायेंगे| बोर्ड परीक्षाओं के महत्त्व को कम किया जायेगा| कुछ Exam Objective और कुछ Exam Subjective लिए जायेंगे| साल में 2 बार बोर्ड परीक्षाएं कराने की बात कही गयी है| जिसमे हर साल 1 साल में 2 सेमेस्टर होंगे| छः महीने पर 1 परीक्षा अर्थात सालभर में दो परीक्षाये होंगी| दोनों सेमेस्टर के मार्क्स जोड़कर Marksheet आपकी बनायीं जाएगी| एक नया आंकलन केंद्र परख स्थापित किया जायेगा|

कोचिंग सेंटर में बच्चो को रट्टा मार पढाई से अब छुटकारा मिल जायेगा क्योंकि आगे students के लिए ऐसा Course Design किया जायेगा जिससे बच्चो को रटने की बजाय समझकर वे अपनी भाषा में उत्तर लिख सके|

About : New Education Policy PDF :-

PDF Name New Education Policy PDF
Formate PDF
PDF Size 1 MB
Pages 4
Credit Abhinay Maths PDF
Source Internet

नई शिक्षा नीति 2020 (New Education Policy)

अब 12th के बाद Higher Studies में बहुत बढ़िया Changes हुए है जैसे जो Candidate B.Sc. न करके BA करना चाहते है या Engineering की पढाई करने वाले किसी Students ने 1st Year या 2nd Year के कुछ Semesters की पढाई करने के बाद वह आगे की पढाई नहीं करना चाहता है तो उनके लिए इस शिक्षा नीति के अंतर्गत पहली बार Multiple Entry & Exit System लागू किया गया है|

इसके द्वारा 1 साल के बाद Certificate, 2 साल के बाद Diploma और 3 या 4 साल के बाद Degree मिल जाएगी|  जो छात्र Research करना चाहते है उनके लिए 4 साल का डिग्री प्रोग्राम होगा|

जो लोग नौकरी में जाना चाहते है वो 3 साल का ही Degree Program करेंगे| लेकिन जो Research में जाना चाहते है वो एक साल के MA के साथ चार साल के डिग्री प्रोग्राम के बाद सीधे PHD कर सकते है| उन्हें M.Phil. की जरुतात नहीं होगी| एम. फिल. को समाप्त कर दिया गया है|
Multiple Entry & Exit System का सबसे बड़ा फायदा यह है कि इसके अंतर्गत यदि आप जो कोर्स कर रहे है वह 3 साल का है और आपने 2 साल तय किया है और तीसरे साल में किसी भी प्रकार की Problem आ जाये जैसे आप बीमार पड़ जाये या कोई Family Problem आ जाये और आप तीसरे साल की पढाई Complete न कर पाए तो आप कभी भी As Per Rules आगे की पढाई कर सकते है|

इसके अलावा एक Academic Bank of Credit बनाया जायेगा| इसके तहत एक से ज्यादा एक साथ करना चाहते है तो आप कर सकते है जिस कोर्स को जहाँ तक Complete करेंगे उसका Data इस Credit में जमा हो जायेंगे| जब कोई Final Degree के लिए कोई course करेंगे उस credit को इससे जोड़ दिया जायेगा| जैसे Bank के Saving Account होते है वैसे ही Academic Credit में Digi Locker के माध्यम से हमारे वहां पर Credit रहेंगे|

इसके अलावा कई बदलाव किये जायेंगे|

New Education Policy 2020 In Hindi PDF Download : Live

NEP 2020 अन्य प्रमुख बदलाव-

  • मानव संसाधन मंत्रालय का नाम बदलकर शिक्षा मंत्रालय कर दिया गया अर्थात HRD (Human Resource Development) Ministry के मंत्री को अब Education Minister कहा जायेगा अर्थात रमेश पोखरियाल निःशंक शिक्षामंत्री Education Minister है|
  • Higher Education के लिए Single Regulator बनाया जायेगा जैसे अभी UGC, AICTE जैसी कई Higher Educational Institutes के लिए है| अब सबको मिलकर एक ही Regulator बना दिया जायेगा| Medical और Law की पढाई के अलावा सभी उच्च शिक्षा एक Single Regulator Body भारतीय उच्च शिक्षा आयोग अर्थात HECI का गठन किया जायेगा|
  • देश की हर University के शिक्षा का Standard एक जैसा होगा| ऐसा नहीं होगा Central University में अलग तरह  की पढाई और State University में अलग तरह की पढाई हो रही है|
  • सरकार ने लक्ष्य निर्धारित किया है कि GDP का 6% शिक्षा में लगाया जाये जो अभी 4.43% है| इसमें बढ़ोत्तरी करके शिक्षा का क्षेत्र बढाया जायेगा|
  • B.Ed. 4 साल का होगा| 4 वर्षीय B.Ed. Degree 2030 से शिक्षक बनने की न्यूनतम योग्यता होगी|
  • नयी शिक्षा नीति बेरोजगार तैयार नहीं करेगी स्कूल में ही  बच्चो को नौकरी के जरुरी प्रोफेशनल शिक्षा दी जाएगी|
  • नए सुधारो में टेक्नोलॉजी और ऑनलाइन एजुकेशन पर जोर दिया गया है| Computer, Laptop, Phone इत्यादि के जरिये Different Apps का Use करके शिक्षा को और रोचक करने की बात कही गयी है|
  • बच्चो के रिपोर्ट कार्ड में Life Skills को जोड़ा जायेगा जिससे बच्चो में लाइफ स्किल्स का भी विकास हो सकेगा| अब तक रिपोर्ट कार्ड में ऐसा कोई भी प्रावधान नहीं था|
  • नयी राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 में राष्ट्रीय परीक्षा Agency द्वारा उच्च शिक्षा संस्थानों में प्रवेश के लिए कॉमन एंट्रेंस Exam का ऑफर दिया जायेगा| यह संस्थान के लिए अनिवार्य नहीं होगा|
  • Early Childhood Care एवं Education के लिए Carriculam NCERT द्वारा तैयार होगा| इसे 3 से 6 वर्ष के बच्चो के लिए विकसित किया जायेगा बुनियादी शिक्षा (6 से 9 वर्ष) के लिए Foundation Literacy एवं Numbering पर National Mission शुरू किया गया|

New Education Policy 2020 In Hindi PDF Download

 New Education Policy PDF : Click Here

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here